SCO Summit 2023 -  भारत ने किया विरोध

भारत में सदस्य देशों के आर्थिक रणनीति का वक्तव्य में Belt and Road Initiative  का हिस्सा बनने से इनकार कर दिया। भारत ने घोषणा पत्र के उस हिस्से पर दस्तखत नहीं किए जिसमें इस परियोजना का जिक्र है।

दरअसल Belt and Road  एक मल्टी अरब डॉलर प्रोजेक्ट है, जिसका मकसद दक्षिण पूर्व एशिया, मध्य एशिया, खाड़ी क्षेत्र, अफ्रीका और यूरोप को भूमि एवं समुद्री मार्गों के नेटवर्क से जोड़ना है।

इसका उद्देश्य दुनिया में बड़ी बुनियादी ढांचा परियोजनाओं को शुरू करना है, जो बदले में चीन के वैश्विक प्रभाव को बढ़ाएगा। इस परियोजना में रेलवे, बंदरगाह, राजमार्ग जैसे अन्य बुनियादी ढांचे को अमलीजामा पहनाने की योजना है,

जिसमें सहयोग के लिए 100 से ज्यादा देशों ने दस्तखत किए हैं।

लेकिन भारत की ओर से विरोध जताने की वजह है कि यह परियोजना पाकिस्तान के अधिकृत कश्मीर से होकर गुजरेगी और जिसे भारत अपनी संप्रभुता का उल्लंघन मानता है।

चीन - पाक आर्थिक गलियारा इसी  Belt and Road Initiative  परियोजना का हिस्सा है जिसपर भारत लगातार सवाल खड़े करता रहा है।